कोरोना से युद्ध लड़ने की क्षमता आपके अंदर ही : हितकारी

yoga is the best to fight coronavirus  से युद्ध लड़ने की  क्षमता आपके अंदर ही : हितकारी
devendra hitkari

गाजियाबाद(12 जून 2020)- पिछले तीस वर्षों के दौरान लाखों लोगों को निशुल्क योग सिखा रहे अखिल भारतीय योग संस्थान से महामंत्री देवेंद्र हितकारी कहते हैं कि कोरोना से युद्ध लड़ने की शक्ति के लिए आपको कहीं बाहर जाने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि यह क्षमता आपके अंदर ही मौजूद है । जिसे रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पावर) कहा जाता है । उनका कहना है कि भारत वर्ष रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़कर ही कोरोना पर काबू पाने में कामयाब होगा ।
मीडिया से एक विशेष बातचीत में देवेंद्र हितकारी ने कहा कि कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को हम तीन प्रकार से समझ सकते हैं । पहली जन्मजात (इनबिल्ट ) यह इम्युनिटी पावर बच्चे को माता से मिलती है, यानि यदि माँ कहीं कमजोर होती है तो उसका बच्चा भी कमजोर होता है । इसी तरह यदि किसी बिन्दु पर माता के शरीर पर किसी बीमारी का असर कम होता है तो बच्चे के शरीर पर भी यही असर होता है ।
दूसरे अडॉप्टिंग इम्युनिटी पावर होती है जिसमें दूसरे शरीर से प्लाज़्मा आदि लेकर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जाती है । इन दिनों कोरोना संक्रमित मरीजों का प्लाज़्मा चढ़ाकर प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर कोरोना पर काबू पाया जा रहा है । हितकारी कहते हैं कि तीसरी मगर काफ़ी महत्वपूर्ण अक़वायर्ड इम्युनिटी पावर है जो भारत जैसे देश में बहुत ही कारगर साबित हो सकती है । भारत वर्ष सनातन धर्म से जुडा है इसके अलावा यहां का हर धर्म का व्यक्ति अपने ईश्वर को बड़ी ही शिद्दत से मानता है और उस पर पूर्ण रुप से विश्वास करता है । वह अनुशासित जीवन भी जीता है । सकारात्मक सोच के साथ उसकी यही जीवन शैली उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मज़बूत करती है ।
योग हैं इसमें सबसे ज्यादा कारगर : देवेंद्र हितकारी बताते हैं कि कोरोना या अन्य किसी भी बीमारी से बचने के लिए प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना बेहद जरूरी है, इसके लिए हमें गर्म पानी व गर्म पानी से गरारे करना काफ़ी मुफीद होता है ।साथ ही हमें कफ बनाने वाले भोज्य पदार्थों से बचना चाहिए जैसे दूध, दही, अरबी, उर्द की दाल, ठंडे पेय पदार्थ आदि हैं ।
योग से बढ़ाई जा सकती है रोग प्रतिरोधक क्षमता: हितकारी कहते हैं कि योग आसन करके भी हम इम्युनिटी पावर बढ़ाकर कोरोना को मात दे सकते हैं। इसके लिए बैकवर्ड फीडिंग (पीछे झुकने वाले आसन )नियमित रूप से करने चाहिए । इनमें कोन, भुजंग, अष्ट्र, मकर, मत्स्य की संख्या बढ़ाना व प्राणायाम सबसे ज्यादा लाभकारी है ।इसमें प्राणायामसबसे ज्यादा प्रभावशाली है । इसके अभ्यास से आंतरिक इम्युनिटी मज़बूत होती है । यह ओटो इम्युनिटी को मज़बूत करता है इसके लिए हमें यह ध्यान देना होगा की शरीर, श्वास और मन पर ध्यान पूरी तरह से केंद्रित होना चाहिए । इससे भय दूर होता है और इम्युनिटी पावर बढ़ती है । इसके अलावा आंवला, हर्ब्स, हरी पत्तियाँ, दाल, सब्जी गुड़, गलोय व आयुर्वेदिक काढ़ा बेहद लाभ प्रद है ।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *