देर रात पकड़े गए तब्लीगी जमात के 5 सदस्य; भेजे गए अस्पताल, कोरोना से निपटने के लिए बना कोविड-19 वार रूम



दिल्ली निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में शामिल लोगों ने पूरे देश की मुश्किलें बढ़ा दी है। वहीं दिल्ली जमात में शामिल 5 लोगों को बुधवार देर रात पुलिस ने पकड़ कर अस्पताल में जांच के लिए भर्ती कराया है।सभी लोग दशाश्वमेध और भेलूपुर इलाके में घरों के आस पास छिपे थे। ये सभी सामने नहीं आ रहे थे। सूचना मिलने पर इनको पकड़कर अस्पताल ले जाया गया जहां सबके नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं।

नई दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में आयोजित धार्मिक जलसे में शामिल हुए वाराणसी जिले के पांच लोग वापस लौट कर चुपचाप अपने घर में रह रहे थे। पांचों को दीनदयाल अस्पताल भेज कर उनके खिलाफ भेलूपुर और दशाश्वमेध थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस प्रकरण में पांचों लोगों के परिजनों की भूमिका की भी जांच करेगी।नई दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में आयोजित धार्मिक जलसे में जिले के पांच लोगों के शामिल होने की सूचना मंगलवार को पुलिस को मिली थी।

16 लोग जलसे में शामिल होने गए थे

पुलिस ने तफ्तीश शुरू की तो देर शाम पता लगा कि पांच लोग नहीं बल्कि जिले के 16 लोग जलसे में शामिल होने गए थे। बुधवार को भी पुलिस की तफ्तीश जारी रही।सुरागकशी के दौरान रात में पता लगा कि बजरडीहा क्षेत्र का एक व्यक्ति और मदनपुरा क्षेत्र के चार व्यक्ति जलसे में शामिल होने दिल्ली गए थे। बीती 22 मार्च को सभी अपने घर आए और पुलिस-प्रशासन की बार-बार अपील के बाद भी चिकित्सकीय जांच नहीं कराई।

इस संबंध में एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि पांच लोगों को दीनदयाल अस्पताल भेजा गया है। सभी को पता है कि नई दिल्ली में जलसे में शामिल कई लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, इसके बावजूद सभी की लापरवाही समझ से परे है। गुरुवार को पांचों लोगों के साथ ही उनके परिजनों और करीबियों की भी चिकित्सकीय जांच स्वास्थ्य विभाग कराएगा। जलसे में शामिल हुए अन्य लोगों की तलाश जारी है।

डीएम ने जारी की एडवायजरी
डीएम कौशल राज ने एडवाइजरी जारी कर कहा है कि 12 मार्च के बाद जो भी लोग देश या विदेश से मजलिस,जमात,मरकज,जियारत ,सत्संग में शामिल होकर आए हैं, वो 2 और 3 अप्रैल को अपना जांच दिन दयाल सेंटर में करवाएं। अगर इनकी स्क्रीनिंग नहीं हुई और संक्रमण फैला तो महामारी अधिनियम के तहत कार्यवाही होगी।

शहर में बना कोविड वार रूम

शहर में कोविड वार रूम भी बना दिया गया है। जहां जरूरत के सभी विभाग एक साथ बैठ समस्या को सुन और निपटा रहे हैं।कोविड -19 कंट्रोल रूम को इंट्रीग्रेटेड वार रूम की तर्ज पर हाईटेक बनाया गया है। हेल्प लाइन नम्बर 1077 को बिजी न ,इसके लिए 5 हंटिंग लाईन से जोड़ा गया है।

वार रूम में नगर निगम, स्वास्थ्य, पुलिस, राजस्व ,आपूर्ति विभाग को दिये गये दिशा निर्देश पर कर्मचारियों द्वारा क्या कार्यवाही की जा रही है। उसका लेखा-जोखा का रजिस्टर समेत डिजिटल में रखा जा रहा है।

उन्होंने बताया कि इस सेन्टर से चौराहों पर हो रही गतिविधि पर भी नजर रखा जा सकेगा जिससे लाकडाउन के अनुपालन की जानकारी हो सके।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


वाराणसी में कोरोना से निपटने के लिए बनाया गया कोविड वार रूम

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *