तब्लीगी जमातियों के संपर्क में आने वाले 40 मदरसा छात्रों की होगी जांच, कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग की मौत प्रोटोकॉल के तहत होगा अंतिम संस्कार



कोरोनावायरस को लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह से सतर्क है। इस बीच जिले के एक मदरसे के 40 छात्र तब्लीगी जमातियों के संपर्क में आने का खुलासा हुआ है। मदरसे के सभी छात्र अन्य राज्यों के हैं। लॉकडान की वजह से वो घरों को नहीं जा पाए थे। स्वास्थय विभाग की पड़ताल में इसका खुलासा हुआ है। सभी छात्रों को शुक्रवार देर रात उर्सला अस्पताल स्क्रिनिंग के लिए एंबुलेंस से लाया गया। मेडिकल परीक्षण के बाद सभी छात्रों को आइसोलेशन सेंटर में रखा जाएगा। इसके साथ ही शुक्रवार शाम एक कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग की मौत हो गई। बुजुर्ग के शव को बैग में पैक कर सील कर दिया गया है। संदिग्ध का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकाल के तहत किया जाएगा।

नौबस्ता थाना क्षेत्र का मछरिया इलाका हॉटस्पॉट एरिया में शामिल है। मछरिया की खैर मस्जिद, नसीमाबाद मस्जिद और हिदायुतुल्लाह मदरसा में तब्लीगी जमातियों का आना जाना था। कोरोना पॉजिटिव पाए गए जमातियों का मूवमेंट था। दरअसल हिदायतुल्लाह मदरसा के एक टीचर के जमातियों से मिलना जुलना था। स्वास्थय विभाग की टीम जमातियों द्वारा बताई गई हिस्ट्री की पड़ताल कर रही थी। इसी दौरान हिदायतुल्लाह मदरसा में पढ़ने वाले छात्र प्रकाश में आए।

स्वास्थय विभाग के मुताबिक यह सभी बच्चे हाई रिस्क में हैं। उनका आपस में उठना बैठना था। इसके साथ ही कुछ संदिग्धों के भी टच में थे। सीएमओ डॉ अशोक शुक्ला के मुताबिक खूफिया पड़ताल से जानकारी मिल है। एसीएम ने मदरसे के बच्चों की जांच की है। सभी बच्चों को उर्सला लाकर स्क्रिनिंग कराई गई है। सभी छात्रों को क्वारैंटाइन सेंटर भेजा गया है।

कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग की मौत
शुक्रवार को एक 77 वर्षीय कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग की मौत हो गई। स्वास्थय विभाग की टीम ने बुजुर्ग के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा है। कोरोना रिर्पोट आने के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव था या नहीं। दरअसल आजाद नगर निवासी बुजुर्ग को एक प्राइवेट हास्पिटल से हैलट के लिए रिफर किया गया था। हैलट के डाक्टरों ने गंभीर हालत देखकर उसे मेडिसिन आईसीयू में रखा गया था। जहां उपचार के दौरान मौत हो गई। बुजुर्ग में कोरोना जैसे लक्षण देख डॉक्टरों ने सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा है।

बुजुर्ग के शव को एक विशेष बैग पैक करके परिजनों को सौंप दिया गया है। परिजनों को सख्त हिदायत दी गई है कि बैग को खोला नहीं जाए। दरअसल बुजुर्ग का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकाल के तहत होना है। परिजनों को शव देते वक्त मेडिकल टीम भेजा गया था। मेडिकल टीम के सामने ही बुजुर्ग का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

मेडिकल स्टोर संचालक खांसी, जुकाम और बुखार की दवा देने पहले नोट करेंगें नाम पता
मेडिकल स्टोर संचालक अब खांसी , जुकाम , बुखार और स्वांस की दवा देने से पहले ग्राहक का नाम , पता , मोबाइल नंबर रजिस्टर पर नोट करेंगे। इस आदेश को नहीं मानने वालें मेडिकल स्टोर संचालकों के खिलॉफ कार्यवाई की जाएगी। इसके साथ ही मेडिकल स्टोर संचालक प्रतिदिन शाम को ग्राहकों के नाम पता का ब्यौरा जिला औषधी निरीक्षक को सौपेंगें।

हैलट कोविड-19 अस्पताल के 40 डॉक्टर क्वारैंटाइन को भेजे गए
हैलट के कोविड-19 हॉस्पिटल में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज करने वाले 40 डॉक्टरों शुक्रवार देर रात 12 बजे क्वारैंटाइन के लिए भेजा गया है। इन डाक्टरों के जगह दूसरों डॉक्टरों को तैनात किया गया है। सभी डॉक्टर 14 दिनों तक क्वारैंटीन रहेंगे। इसी प्रकार हैलट प्रशासन ने 200 डाक्टरों की टीम को तैयार किया है। यह सभी डाक्टर मई तक अपने परिवार से नहीं मिल सकते हैं। क्वारैंटाइन को भेजे गए डाक्टरों पर एक मेडिकल टीम लगातार नजर बनाए हुए है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


मेडिकल स्टोर संचालक अब खांसी , जुकाम , बुखार और स्वांस की दवा देने से पहले ग्राहक का नाम , पता , मोबाइल नंबर रजिस्टर पर नोट करेंगे। इस आदेश को नहीं मानने वालें मेडिकल स्टोर संचालकों के खिलॉफ कार्यवाई की जाएगी। यह निर्देश सीएमओ की ओर से जारी किया गया है।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *