सरकार ने आजम के जौहर विश्वविद्यालय को टेकओवर कर बनाया क्वारैंटाइन सेंटर, बहराइच में 21 तब्लीगी जमातियों को जेल भेजा गया



उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। राज्य में संक्रमित मरीजों की संख्या 452 तक पहुंच गई है। इसमें 254 लोग तब्लीगी समाज से जुड़े हुए हैं। सरकार ने तब्लीगी जमातियों के खिलाफ सख्त रुख अपनाना शुरू कर दिया है। शनिवार को बहराइच में 21 जमातियों का क्वारैंटाइन का समय समाप्त होने के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया है। इमें इंडोनेशिया और थाईलैंड मूल के जमाती भी शामिल हैं। इस बीच सरकार ने एक बड़ा कदम उठाते हुए रामपुर में सपा सांसद आजम खान के जौहर विश्वविद्यालय को टेकओवर कर लिया है। अब वहां प्रशासन की ओर से क्वारैंटाइन सेंटर बनाया जाएगा,जिसमें सारी सुविधाएं मौजूद होंगी।

41 जिलों से अब तक 452 मामले सामने आए
राज्य में अब तक आगरा में 92, लखनऊ में 32, गाजियाबाद में 27, गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में 64, लखीमपुर खीरी में 4, कानपुर नगर में 9, पीलीभीत में 2, मुरादाबाद में 1, वाराणसी में 9, शामली में 17, जौनपुर में 4, बागपत में 5, मेरठ में 48, बरेली में 6, बुलन्दशहर में 11, बस्ती में 9, हापुड़ में 6, गाजीपुर में 5, आज़मगढ़ में 4, फिरोजाबाद में 11, हरदोई में 2, प्रतापगढ़ में 6, सहारनपुर में 21 व शाहजहांपुर में 1, बाँदा में 2, महराजगंज में 6 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।इसके अलावा हाथरस में 4, मिर्जापुर में 2, रायबरेली में 2, औरैय्या में 3, बाराबंकी में 1, कौशाम्बी में 2, बिजनौर में 1, सीतापुर में 10, प्रयागराज में 1, मथुरा में 2 व बदायूँ में 2, रामपुर में 6, मुजफ्फरनगर में 4, अमरोहा में 7 व भदोहीं में 1 पेशेंट की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिवमिले हैं।

अब तक 45 लोग ठीक होकर हुए डिस्चार्ज
अब तक प्रदेश के 9 जनपदों से 45 लोग डिस्चार्ज किए गएहैं। जिनमें आगरा से 10, गाजियाबाद से 5, नोएडा से 12 एवं लखनऊ से 5, कानपुर से 1, शामली से 1, पीलीभीत से 1 व लखीमपुर खीरी से 1 व मेरठ से 9 कोरोना पेशेंट्स को स्वस्थ करवाकर डिस्चार्ज किया गया है।प्रदेश में अब तक कोरोना से कुल 5 मौतें हुईंहैं, जिनमें मेरठ, बस्ती, वाराणसी, आगरा और बुलन्दशहर जिले में अब तक 1-1 मौत शामिल है।

लखनऊ; 5 दिनों में डाइट के दम परठीक हुआ ढ़ाई साल का बच्चा
यूपी की राजधानी लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में भर्ती ढाई साल के बच्चे ने कोरोना के खिलाफ जंग जीत ली है। सिर्फ पांच दिनों में बच्चा पूरी तरह से ठीक हो गया और उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। खास बात यह है कि बच्चे ने बिना किसी दवा के ही कोरोना को मात दी है। बच्चे का इलाज करने वाले डॉ. डी. हिमांशु ने बताया कि दवाओं से बच्चे को साइड इफेक्ट्स हो सकते थे। ऐसे में महज डाइट के दम पर बच्चे को ठीक किया गया। तीन दिन तक बच्चे को कोई दवा नहीं दी गई। उसे दलिया, खिचड़ी और दूध की खीर जैसी डाइट दी और कुछ फल व जूस भी दिए।

मिर्जापुर; साउथ अफ्रीका से आये इंजीनियर को पुलिस ने ससुराल से उठाया

दक्षिण अफ्रीका से लौटे इंजीनियर को पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत हिरासत में ले लिया। फतेहपुर निवासी राजेन्द्र कुमार को उसके ससुराल से उस वक्त उठाया गया, जब वह आराम फरमा रहे थे।

दक्षिण अफ्रीका से लौटे इंजीनियर को पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत हिरासत में ले लिया। फतेहपुर निवासी राजेन्द्र कुमार को उसके ससुराल से उस वक्त उठाया गया, जब वह आराम फरमा रहा था।
दक्षिण अफ्रीका से लौटे इंजीनियर को पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत हिरासत में ले लिया। फतेहपुर निवासी राजेन्द्र कुमार को उसके ससुराल से उस वक्त उठाया गया, जब वह आराम फरमा रहा था।

फतेहपुर जिला खागा थाना क्षेत्र निवासी राजेन्द्र साउथ अफ्रीका के प्राइवेट कंपनी में इन्जीनियर हैं। साउथ अफ्रीका से 21 मार्च 2020 को दिल्ली एयरपोर्ट पर आये थे। जहां दिल्ली में इनको 21 मार्च से 11 दिवस आइसोलेशन में रखा गया था। इसके पश्चात एक अप्रैल को दिल्ली से अपने घर फतेहपुर गए। लाकडाउन के दौरान वह फतेहपुर से 10 अप्रैल को मीरजापुर कटरा कोतवाली क्षेत्र के गणेशगंज स्थित अपने ससुराल अमरनाथ सेठ के यहां आ गये थे।

रामपुर; आजम के जौहर विश्वविद्यालय को सरकार ने किया टेकओवर, बनेगा क्वरैंटाइन सेंटर
कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और उपचार को लेकर प्रशासन ने सांसद आजम खां के जौहर विश्वविद्यालय का अधिग्रहण कर लिया है। जौहर विवि के अस्पताल में चार सौ बेड में सौ सौ बेड प्रयोग अवस्था में हैं।वहीं मरीजों के उपचार से लेकर ओपीडी, दवाओं के स्टॉक करने, डाक्टर और अन्य स्टाफ के रहने, खाने आदि की भी व्यवस्था है। अब यहां कोरोना आशंकितों और संक्रमितों को क्वारैंटाइन और आइसोलेट किया जाएगा। जिले में कोरोना वायरस की रोकथाम और इससे संक्रमितों को तलाश कर उपचाराधीन करने के लिए प्रशासन बड़ी मुस्तैदी से कार्य कर रहा है। कोरोना से निपटने के लिए शुक्रवार को ही प्रशासन ने जिले के 9 निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम को टेकओवर कर लिया था।

बहराइच; मस्जिदों में रुके 21 जमातियों को जेल भेजा गया

शनिवार को सभी 21 जमातियों को रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। यहां से उनको जेल भेज दिया गया। इससे पहले सभी को क्वारंटीन में रखा गया था. उनका क्वारैंटाइन पूरा हो गया है और उन सभी की कोरोनावायरस की जांच रिपोर्ट निगेटिव मिली है।
शनिवार को सभी 21 जमातियों को रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। यहां से उनको जेल भेज दिया गया। इससे पहले सभी को क्वारंटीन में रखा गया था. उनका क्वारैंटाइन पूरा हो गया है और उन सभी की कोरोनावायरस की जांच रिपोर्ट निगेटिव मिली है।

उत्तर प्रदेश के बहराइच की मस्जिदों में रुके 21 जमातियों को क्वारैंटाइन पूरा होने के बाद आज जेल भेज दिया गया। इनमें चार भारतीय, सात थाईलैंड के और 10 इंडोनेशिया मूल के जमाती शामिल हैं। इन सभी की कोरोना वायरस जांच की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन सभी पर महामारी अधिनियम सहित विभिन्न धराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। शनिवार को सभी 21 जमातियों को रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। यहां से उनको जेल भेज दिया गया। इससे पहले सभी को क्वारंटीन में रखा गया था. उनका क्वारैंटाइन पूरा हो गया है और उन सभी की कोरोनावायरस की जांच रिपोर्ट निगेटिव मिली है।

झांसी के एक गांव में महिलाएं दे रही हैं पहरा

सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के लहर गिर्द गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। इसके लिए महिलाओं ने 5 समूह बनाए हैं। ये अपने हाथों में डंडा लेकर 3-3 घंटे की पहरेदारी करती हैं। सिर्फ गांव वाले ही प्रवेश कर पाते हैं बाकी लोगों को बाहर का रास्ता दिखा देती हैं।
सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के लहर गिर्द गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। इसके लिए महिलाओं ने 5 समूह बनाए हैं। ये अपने हाथों में डंडा लेकर 3-3 घंटे की पहरेदारी करती हैं।सिर्फ गांव वाले ही प्रवेश कर पाते हैं बाकी लोगों को बाहर का रास्ता दिखा देती हैं।

झांसी में14 अप्रैल को 21 दिन का लॉकडाउन का समय पूरा हो रहा है। सरकार लॉकडाउन की समयसीमा को और बढ़ा सकती है। इस बीचअलग-अलग पक्ष सामने आ रहे हैं, लेकिन झांसी में लॉक डाउन का शानदार नमूना देखने को मिल। यहां के एक गांव में डंडा लेकर महिलाएं पहरेदारी कर रही हैं। उन्होंने बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक लगा दी।वहीं, खाना बांटने से पहले डीएम ने खुद लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग में बैठाया।सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के लहर गिर्द गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। इसके लिए महिलाओं ने 5 समूह बनाए हैं। ये अपने हाथों में डंडा लेकर 3-3 घंटे की पहरेदारी करती हैं।सिर्फ गांव वाले ही प्रवेश कर पाते हैं बाकी लोगों को बाहर का रास्ता दिखा देती हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


उत्तर प्रदेश के बहराइच की मस्जिदों में रुके 21 जमातियों को क्वारैंटाइन पूरा होने के बाद आज जेल भेज दिया गया। इनमें चार भारतीय, सात थाईलैंड के और 10 इंडोनेशिया मूल के जमाती शामिल हैं। इन सभी की कोरोना वायरस जांच की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *