Responsive 2
Breaking News

रेलवे में सुधार लाने के लिए रेल मंत्रालय और इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के बीच समझौता

नई दिल्ली (1 नवंबर 2019)-देश की सबसे ज़्यादा कमाई वाला माने जाने वाला मंत्रालय ने अपनी सेवाओं में सुघार के लिए निजी क्षेत्र के लोगों से समझौता किया है। रेल मंत्रालय और इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस (आईएसबी) द्वारा रणनीतिक साझेदारी के लिए आज यहां पर एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया गया। इस समझौते पर विनोद कुमार यादव, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और प्रोफेसर राजेंद्र श्रीवास्तव, डीन, आईएसबी द्वारा रेलवे बोर्ड के सदस्यों और आईएसबी के संकाय सदस्यों की उपस्थिति में हस्ताक्षर किये गये।
समझौते के तहत कार्यकारी शिक्षा कार्यक्रम, अनुसंधान के अवसरों को विकसित करना, केस स्टडी और शैक्षणिक सामग्रियों को विकसित करना और भारतीय रेलवे में भविष्य के लिए नेतृत्व पूल तैयार करना शामिल है।
इस अवसर पर बोलते हुए, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने कहा, “इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के साथ इस साझेदारी से भारतीय रेलवे को तेजी से बदलने वाले प्रतिस्पर्धी माहौल में नेतृत्व प्रतिभा का निर्माण करने में मदद मिलेगी। यह एमओयू रेलवे के महत्व वाले क्षेत्रों में अनुसंधान की सुविधा भी प्रदान करेगा और रेलवे को भविष्य में एक नवाचार और प्रौद्योगिकी से संचालित संगठन के रूप में स्थापित करेगा।
इस अवसर पर बोलते हुए, प्रोफेसर राजेंद्र श्रीवास्तव, डीन, आईएसबी ने कहा, “भारतीय रेलवे और आईएसबी के बीच विस्तृत साझेदारी, देश की विकास प्रक्रियाओं के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होने जा रही है। यह रेलवे अधिकारियों के लिए महत्वपूर्ण है कि वे भविष्य के परिवर्तनों के प्रबंधन की बारीकियों को समझें और यहां पर आईएसबी उपयुक्त शिक्षण मध्यवर्तन की पेशकश कर सकता है, विचार नेतृत्व विकसित कर सकता है और फायदेमंद परिदृश्यों को लाने के लिए अनुसंधान कार्यक्रम शुरू कर सकता है। मुझे यकीन है कि रेलवे बोर्ड और आईएसबी के बीच का सहयोग एक लंबा रास्ता तय करेगा और इस प्रकार की भागीदारियों के लिए किर्तीमान स्थापित करेगा।
अपने सेंटर फॉर एग्जीक्यूटिव एजुकेशन (सीईई) के माध्यम से, आईएसबी भारतीय रेलवे के अधिकारियों को उनके कैरियर के बीच में प्रशिक्षण की जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है। अपने सहयोग को और मजबूत करने के लिए, रेलवे बोर्ड और आईएसबी एक साथ मिलकर आपसी हित के क्षेत्रों में अनुसंधान करेंगे और केस स्टडी विकसित करेंगे। आईएसबी ‘एक एग्जीक्यूटिव इन रेजिडेंस’ नामक कार्यक्रम की शुरूआत करेगा और इसमें भागीदारी के लिए भारतीय रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को शामिल किया जाएगा। रेलवे बोर्ड को आपसी हित के क्षेत्रों में सलाह देने के लिए एक चयनित आईएसबी संकाय उपलब्ध कराया जाएगा।
आपको बता दें कि इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस एक मल्टिनेश्ल बिजनेस स्कूल है जो अपने दो परिसरों – हैदराबाद और मोहाली के माध्यम से विश्व स्तरीय प्रबंधन शिक्षा प्रदान करता है। यह स्कूल सर्वोत्तम ग्लोबल एमबीए प्रोग्रामों के लिए लगातार रैंक प्राप्त करने वाला सबसे नवोदित स्कूल है।

Responsive 2

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by Dragonballsuper Youtube Download animeshow