Responsive 2

muslims in india: अपने वजूद के लिए भटकता अल्पसंख्यक समाज

muslims in india: अपने वजूद के लिए भटकता अल्पसंख्यक समाज
muslims in india: अपने वजूद के लिए भटकता अल्पसंख्यक समाज
muslims in india: अपने वजूद के लिए भटकता अल्पसंख्यक समाज

न्यूज विद आजाद खालिद के खास शो प्राइम टाइम न्यूज विद आज़ाद ख़ालिद में आपका स्वागत है। 22 और 23 मई 1987 को स्वतंत्र भारत की व्यवस्था और पुलिस ने देश से एक सवाल पूछा कि muslims in india जिसका जवाब आजतक किसी के पास नहीं है। पुलिस के जवानों ने सैंकड़ो निहत्थे अल्पसंख्यकों को लाइन में लगाकर गोलियों से भून दिया। यह कोई पहली बार नहीं था। मामला 1984 का सिख नरसंहार हो या फिर कोई कोई बर्बरता, पुलिस के खिलाफ आजतक कोई कार्रवाई नहीं हुई। नतीजा मुरादाबाद, जमशेदपुर,गुजरात, दिल्ली हिंसा और न जाने कितने ही ऐसे मामले सामने आते चले गये। लेकिन न तो देश ने न ही खुद उस समाज के कथित नेताओं ने इसका जवाब दिया जिससे वो खुद ताल्लुक रखते थे। #muslimsinindia देश का बड़ा सवाल है। देश का सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय ही अगर पिछड़ेगा तो इसका नुकसान देश को ही है। तो आइए जानते हैं #muslimsinindia के बार में । प्राइम टाइम न्यूज विद आजाद खालिद में आज इन्ही तमाम सवालों पर बात करते हैं। #muslimsinindia #primetime #primetimenews #azadkhalid #primetimenewswithazadkhalid #muslims_in_india #muslimleaders

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by Dragonballsuper Youtube Download animeshow