रेड जोन घोषित मस्जिदों के आसपास रखी जा रही ड्रोन से नजर, 39 हजार घरों में तलाशे जाएगें कोरोना संदिग्ध



दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से आए 6 जमाती कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। तब्लीगी जमात के 6 सदस्य कानपुर की 6 मस्जिदों में ठहरे थे। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शहर की 6 मस्जिदों को रेड घोषित करने के साथ ही मस्जिदों के आसपास के क्षेत्रों पर ड्रोन से नजर रखी जा रही है। रेडजोन एरिया में आने वाले 39 हजार घरों पर कोरोना संदिग्धों की तलाश के लिए एक बड़ा अभियान चलाया जाएगा। इसके साथ ही पूरे क्षेत्र को सैनिटाइज करने का काम किया जा रहा है। इसके साथ ही लोगों से लॉकडाउन का पालन करने अपील की जा रही है।

कानपुर शहर की 6 मस्जिदें रेड जोन में शामिल है जिसमें चमनगंज की हलीम प्राइमरी मस्जिद, कर्नलगंज की हुमांयू मस्जिद, नौबस्ता की खैर वाली मस्जिद, बाबूपुरवा की सुफ्फा मस्जिद, सजेती की बरीपाल मस्जिद और एक मस्जिद कानपुर देहात की है। इस सभी मस्जिदों के आसपास के एक किलोमीटर तक सीमा को सील कर दिया गया है। मस्जिदों के साथ ही एक किलोमीटर के एरिया को सैनिटाइज किया जा रहा है।

शनिवार को कर्नलगंज और बाबूपुरवा में मस्जिदों के आसपास के घरों मे मेडिकल परिक्षण किया है। लगभग 300 लोगों को जांच के बाद होम क्वारैंटाइन की मोहर लगाई है। रविवार को भी सभी रेडजोन इलाकों पड़ने वाले 30 हजार घरों में मेडिकल परीक्षण किया जाएगा।निजामुद्दीन मरकज से आए तब्लीगी जमात के 8 विदेशी नागरिक रास्थान होते हुए बीते 14 मार्च को बाबूपुरवा की सुफ्फा मस्जिद पहुचे थे। शुक्रवार को केजीएमयू से आई रिर्पोट में दो विदेशी नागरिक कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। कोरोना संक्रमित दोनो विदेशी नागरिक आफगानी है। इन्हे हैलट अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

मस्जिदों से जुडे़ लोगों को भी क्वारैंटाइन किया गया
इसके साथ ही बीते 18 मार्च को निजामुद्दीन मरकज से आए तीन जमाती चमनगंज के हलीम प्राइमरी मस्जिद में ठहरे थे। इसके बाद कर्नलगंज की हुमांयू मस्जिद में एक दिन रूकने के बाद नौबस्ता की खैर मस्जिद में ठहरे थे। तीनों जमाती खैर मस्जिद से होते हुए बाबूपुरवा की सुफ्फा मस्जिद गए थे। वहीं दूसरी जमात के लोग भी दिल्ली से आए और सजेती के बरीपाल मस्जिद में ठहरे थे। इस जमात के लोग जनपद कानपुर देहात के कैंधा धर्म के प्रचार प्रसार के लिए गए थे। इस सभी मस्जिदों से जुड़े लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है।

एसपी ईस्ट राजकुमार अग्रवाल के मुताबिक कानपुर में लॉकडाउन का असर सड़को पर 100 फीसदी दिखाई दे रहा है। लेकिन गलियों और मोहल्लों में इसका क्या असर पड़ा है। कितना इसका लोग पालन कर रहे है हालाकि हमारी पुलिस टीमें गस्त करती रहती है। इसके साथ ही ड्रोन कैमरे से सर्विलांस किया गया तो हमने जो वीडियो फुटेज प्राप्त किया। उसमे यह देखा गया कि लोग लॉकडाउन का लोग पूरी तरह से पालन कर रहे हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


मस्जिदों को सैनिटाइज कराने में जुटा प्रशासन

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *