भारत 8वीं बार सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य चुना गया; अमेरिका ने कहा- हम मिलकर दुनिया में अमन बहाली के लिए काम करेंगे



भारत 8 साल में 8वीं बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य चुन लिया गया है। बुधवार को हुई वोटिंग में महासभा के 193 देशों ने हिस्सा लिया। 184 देशों ने भारत का समर्थन किया। अमेरिका ने सुरक्षा परिषद में भारत की अस्थाई सदस्यता का स्वागत किया। कहा- भारत और अमेरिका मिलकर दुनिया में अमन बहाली और सुरक्षा जैसे अहम मुद्दों पर काम करेंगे।
संयुक्त राष्ट्र चार्टर के मुताबिक, भारत दो साल के लिए अस्थाई सदस्य चुना गया है। भारत के साथ आयरलैंड, मैक्सिको और नॉर्वे भी अस्थाई सदस्य चुने गए हैं।

यह संबंधों का विस्तार
भारत को अस्थाई सदस्य बनाए जाने की घोषणा के बाद अमेरिका की तरफ से एक बयान जारी किया गया। इसमें कहा गया, “हम भारत का स्वागत करते हैं। उसे बधाई देते हैं। दोनों देश मिलकर दुनिया में अमन बहाली और सुरक्षा के मुद्दों पर काम करेंगे। दोनों देशों के बीच ग्लोबल स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप है। हम इसे और आगे ले जाना चाहते हैं।”

पाकिस्तान परेशान

संरा सुरक्षा परिषद में भारत कोअस्थाई सदस्यता मिलने सेपाकिस्तान परेशान है। वोटिंग के पहले पाकिस्तान केविदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरैशी ने कहा- यूएनएससी में भारत कीअस्थाई सदस्यता हमारे लिए चिंता का विषय है।भारत हमेशा इस मंच से उठाए जाने वाले प्रस्तावों को खारिज करता रहा है। भारत के अस्थाई सदस्य बनने से कोई आसमान नहीं फट पड़ेगा।पाकिस्तान भी सात बार अस्थाई सदस्य रह चुका है।

क्यों चुने जाते हैं अस्थाई सदस्य

सुरक्षा परिषद में अस्थाई सदस्य चुनने का मकसद यह होता है कि वहांक्षेत्रीय संतुलन बना रहे। अफ्रीका और एशिया-प्रशांत देशों के लिए तयदो सीटों पर तीन उम्मीदवार जिबूती, भारत और केन्या हैं।

ऐसे होता है चुनाव
193 सदस्यों वाले संयुक्त राष्ट्रमें भारत को जीत के लिए दो-तिहाई यानी 128 सदस्यों का समर्थन चाहिए। सदस्य देश सीक्रेट बैलेट से वोटिंग करते हैं। भारत का कार्यकाल 1 जनवरी 2021 से शुरू होगा।

भारत कब-कब अस्थाई सदस्य चुना गया
भारत आठवीं बार सुरक्षा परिषद काअस्थाई सदस्य चुना जा रहा है। इसके पहले1950-51, 1967-68, 1972-73, 1977-78, 1984-85, 1991-92 और 2011-12 में भारत यह जिम्मेदारी निभा चुका है।

सुरक्षा परिषद में कुल 15 देश

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कुल 15 देश हैं। इनमें पांच स्थायी सदस्य हैं। ये हैं-अमेरिका, रूस, फ्रांस, ब्रिटेन और चीन। 10 देशों को अस्थाई सदस्यता दी गई है। हर साल पांच अस्थायी सदस्य चुने जाते हैं। अस्थाई सदस्यों का कार्यकाल दो साल होता है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र परिषद में भारत को अस्थाई सदस्य बनाए जाने का स्वागत किया और बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी पिछले साल जब अमेरिका गए थे, उस दौरान भी राष्ट्रपति ट्रम्प ने अस्थाई सदस्यता के मुद्दे का जिक्र किया था। (फाइल)

About The Author

Originally published on www.bhaskar.com

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *