कभी राहुल को गोद में खिलाया था और उनसे ही मिलने के लिए करना पड़ा इंतजार

कभी राहुल को गोद में खिलाया था और उनसे ही मिलने के लिए करना पड़ा इंतजार

अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के तीन दिवसीय दौरे के तीसरे दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कोझिकोड में रोड शो किया। इस दौरान राहुल के साथ उनके समर्थकों की भारी भीड़ जुटी थी। रैली से पहले राहुल क्षेत्र की एक सेवानिवृत्त नर्स राजम्मा से भी मुलाकात की। जिस अस्पताल में राहुल गांधी का जन्म हुआ था, ये नर्स वहीं कार्यरत थीं और उनके जन्म के समय भी मौजूद थीं।

ठीक 49 साल पहले दिल्ली के एक अस्पताल में नवजात शिशु के तौर पर राहुल गांधी को अपने हाथों में उठाने वाली 72 वर्षीय सेवानिवृत्त नर्स राजम्मा ववाथिल को हाथ पकड़कर उनको गले लगाया और उनके परिजनों से मुलाकात की। ये सभी लोग यहां स्थित एक अतिथि गृह में राहुल से मिलने आए थे।

राहुल गांधी ने अपनी व्यस्तता के बावजूद राजम्मा के पति, नाती-पोतों सहित पूरे परिवार के लिए समय निकाला। उन्होंने राजम्मा के रिश्तेदारों और कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ फोटो भी खिंचवाई। इन लोगों को राहुल से मिलने के लिए बड़ी देर तक इंतजार करना पड़ा।

19 जून 1970 को जब दिल्ली के होली फैमिली अस्पताल में राहुल गांधी का जन्म हुआ था तब राजम्मा ने एक प्रशिक्षु नर्स के तौर पर वहां राहुल की देखभाल की थी। जब राजम्मा ने बताया कि उनके सामने राहुल का जन्म हुआ और नवजात राहुल को उन्होंने ही अपने हाथों में उठाया था तब मुस्कराते हुए राहुल उनकी बात ध्यान से सुनते रहे।

जाने से पहले राजम्मा ने राहुल को कटहल के चिप्स और मिठाई भेंट की जो उन्होंने खुद अपने हाथ से बनाई थी। राहुल ने राजम्मा से पुन: मिलने का वादा किया। राजम्मा ने बाद में कहा कि इतने साल बाद राहुल से मिलकर उन्हें बहुत खुशी हुई। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मैं सचमुच बहुत खुश और रोमांचित हूं। मैं उन लोगों में से एक थी जिन्होंने नवजात राहुल को अपने हाथों में उठाया था। जब मैं उनसे मिली तब उन दिनों की यादें ताजा हो गईं।’

About The Author

Originally published on www.bhaskar.com

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *