श्रीनगर में तीन आतंकी ढेर, पहली बार 4 महीनों में 4 आतंकी संगठनों के सरगनाओं का सफाया



जूनीमार इलाके में रविवार सुबह से जारी ऑपरेशन खत्म हो गया है। सुरक्षा बलों ने एक मकान में छिपे तीन आतंकवादियों को मार गिराया है। दो की पहचान कर ली गई है। उनकी पहचानभरथना (श्रीनगर) के शकूर फारूक लंगू और बिजबेहरा के शाहिद अहमद भट के रूप में की गई है। तीसरे आतंकी की पहचान नहीं हो पाई है। ये सभी आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन और इस्लामिक स्टेट से जुड़े थे।

उधर, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि इन आतंकियों के सफाए के साथ ही इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि 4 प्रमुख आतंकी संगठनों के चीफ का 4 महीने में सफाया हो गया है।जम्मू-कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने बताया कि 4 महीने में लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन और अंसार गजवत-उल हिंद के सरगना मारे गए।

आतंकवादियों से आत्मसमर्पण की अपील की थी
आईजी ने बताया कि श्रीनगर में जिन आतंकवादियों को मारा गया है, वे लोकल टेररिस्ट थे। ऑपरेशन के दौरान वे छिपने के लिए एक मकान में दाखिल हो गए थे। हमने यहां के कुछ सम्मानित लोगों से कहा कि वे आतंकवादियों को समर्पण करने के लिए कहें। लेकिन, आतंकवादियों ने उनकी बात मानने की बजाय ग्रेनेड से सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया। इसके बाद उन्हें एनकाउंटर में मार गिराया गया।

श्रीनगर के जूनीमार इलाके में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाकर्मी वाहन के पीछे पोजिशन लिए रहे।

जैश के आतंकियों के लिए ड्रोन से भेजे जा रहे हथियार

विजय कुमार ने बताया कि कठुआ में जिस ड्रोन को बीएसएफ ने मार गिराया था, वह अली भाई के नाम पर था। वह जैश का आतंकवादी है और साउथ कश्मीर में एक्टिव है। इसमें एम4 राइफल थीं। हमने रिकॉर्ड खंगाले तो पुलवामा के एक आतंकवादी फुरकान का नाम आया है। हो सकता है कि यह एम4 राइफल फुरकान के लिए ही पाकिस्तानी ड्रोन से भेजी गई हों।
कुलगाम में भी एक जैश आतंकी के पास से एके-47 और एम4 कार्बाइन बरामद हुई है। यह भी देखा गया है कि जैश के आतंकी एम4 राइफल का इस्तेमाल करते हैं।

शनिवार कोपाकिस्तानी ड्रोन को शूट किया गया

एक दिन पहलेजम्मू-कश्मीर के कठुआ के पनसर इलाके में बीएसएफ ने एक पाकिस्तानी ड्रोन को शूट कर दिया था। पाकिस्तान की तरफ से इस ड्रोन के जरिए आतंकियोंको हथियार भेजे गए थे। इसमें एक अमेरिकी राइफल, दो मैग्जीन और दूसरे हथियार थे। ये कंसाइनमेंट किसी अली भाई के नाम पर आया था।ये भारतीय इलाके में 250 मीटर अंदर था। बीएसएफ के जवान ने 9 राउंड फायरिंग कर ड्रोन को गिरा दिया।

21 दिन में 12 एनकाउंटर
1 जून: नौशेरा सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश करते हुए 3 पाकिस्तानी आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया।
2 जून: पुलवामा के त्राल इलाके में 2 आतंकी मारे गए।
3 जून: पुलवामा के ही कंगन इलाके में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया।
5 जून: राजौरी जिले के कालाकोट में एक आतंकवादी मारा गया।
7 जून: शोपियां के रेबन गांव में 5 आतंकी मारे गए।
8 जून: शोपियां के पिंजोरा इलाके में 4 आतंकी ढेर।
10 जून: शोपियां के सुगू इलाके में 5 आतंकियों का एनकाउंटर।
13 जून: कुलगाम के निपोरा इलाके में 2 आतंकी मारे गए।
16 जून: शोपियां के तुर्कवंगम गांव में 3 आतंकी ढेर।
18-19 जून: अवंतीपोरा और शोपियां में आठ आतंकवादीमारे गए।
21 जून: शोपियां में एक आतंकी ढेर।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


आईजी विजय कुमार ने बताया- आतंकी इसी मकान में छिपे थे। मारे गए तीन आतंकियों में 2 स्थानीय थे।

About The Author

Originally published on www.bhaskar.com

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *