3 घंटे से प्रसव पीड़ा से कराह रही थी महिला, पति ने यूपी 112 पर किया टि्वट; 4 मिनट में पहुंची पुलिस 



दिल्ली से सटे नोएडा शहर में शुक्रवार को लॉकडाउन के बीच डायल 112 सेवा के पुलिसकर्मियों ने मानवता की मिसाल पेश की। दरअसल, नोएडा के सेक्टर 63 की गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा से तड़प रही थी। उसका पति साधन के इंतजाम के लिए परेशान था। जब कोई मदद नहीं मिली तो उसने डायल 112 के टि्वटर हैंडल पर अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए टि्वट किया। महज चार मिनट में पुलिस की गाड़ी दरवाजे पर पहुंच गई। महिला ने बेटे को जन्म दिया है।

तीन घंटे से एंबुलेंस के लिए था परेशान
नोयडा के एक प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले धनरंजन की पत्नी को शुक्रवार की सुबह प्रसव पीड़ा हो रही थी। धनरंजन बताते हैं कि, पीड़ा के कारण पत्नी की हालत बिगड़ती जा रही थी। लॉकडाउन के बीच कोई वाहन नहीं मिल रहा था। एंबुलेंस से भी मदद मांगी, लेकिन वह भी मुहैय्या नहीं हो सकी। जब व्यवस्था नहीं हुई तो 112 हेल्पलाइन से मदद मांगी। टि्वट करने के महज चार मिनट में ही 112 की पीआरवी 2645 दरवाजे पर पहुंच गई।

112 हेल्पलाइन नोयडा में तैनात राजेन्द्र सिंह राणा ने बताया कि, 11:13 मिनट पर आई सूचना पर कॉलर अश्मित सिंह से बात हुई। कॉलर ने बताया कि मेरे किरायेदार धनरंजन कुमार की पत्नि की डिलीवरी होने वाली है और तीन घंटे से अधिक दर्द हो रहा है। तब हम लोगों ने 4 मिनट में मौके पर पहुंचकर यातायात व्यवस्था कराकर सेक्टर 30 नोएडा में महिला हॉस्पिटल की इमरजेंसी में एडमिट कराया। कॉलर लॉकडाउन और यातायात का साधन न मिलने की वजह से काफी परेशान था।

कठिन परिस्थितियों में की मदद, पत्नी ने सुंदर बेटे को जन्म दिया
धनरंजन बताते हैं कि, 112 की पीआरवी और पीआरवी स्‍टाफ कमांडर हेड कांस्टेबल अरविंद तिवारी, सब कमांडर जितेन्द्र शर्मा, पायलट मनीष कुमार ने कठिन परिस्थितियों में मदद दी है। जिसकी वजह से आज मेरी पत्नी की डिलीवरी हो सकी और उसने सुंदर बच्चे को जन्म दिया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


पीआरवी टीम के साथ दंपती।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *