24 घंटे में 61 नए रोगी; नोएडा-आगरा समेत 6 जिले हाई रिस्क जोन, राशन और खाने की व्यवस्था के लिए अन्नपूर्णा और सप्लाई मित्र पोर्टल लॉन्च



कोरोनावायरस (कोविड-19) महामारी की जंग में संपूर्ण भारत लॉकडाउन का आज 13वां दिन है। यूपी के छह जिले नोएडा, आगरा, मेरठ, गाजियाबाद, लखनऊ व सहारनपुर को हॉट स्पॉट में रखा गया है। इन जिलों में 181 संक्रमित मिले हैं। जबकि, राज्य में अब तक 295टेस्ट पॉजिटिव पाए गए। इनमें एक इंडोनेशियन नागरिक समेत 139 तब्लीगी जमाती पॉजिटिव पाए गए हैं। योगी सरकार ने लॉकडाउन के दौरान किसी को राशन व खाने की दिक्कत न हो, इसके लिए अन्नपूर्णा व सप्लाई मित्र पोर्टल लॉन्च किया है।

लखनऊ: राज्य में अब तक 9103 एफआईआर
लॉकडाउन के दौरान आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर किसी को भी सड़कों पर निकलने की इजाजत नहीं है। बावजूद इसके प्रदेश के कई जिलों में लोग बेवजह सड़कों पर टहलते हुए मिले। राज्य में अब तक लॉकडाउन के उलंघन के आरोप में 9103 एफआईआर दर्ज हुई है। जमाखोरी व कालाबाजारी के आरोप में 170 एफआईआर भी दर्ज की गई है। इस दौरान वाहन चालकों से 4.45 करोड़ रुपए जुर्माना वसूला गया है। प्रदेश में 5301 बैरियर लगाकर 10.75 लाख वाहनों की चेकिंग की गई। 2.30 लाख वाहनों के चालान हुए और 16498 वाहन सीज किए गए हैं।

रविवार रात लखनऊ में 9 बजे 9 मिनट तक कोरोना के खिलाफ दीये जले।

प्रयागराज: इंडोनिशायाई नागरिक संक्रमण का शिकार
दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए तब्लीगी जमात में शामिल इंडोनिशाई नागरिक कोरोनावायरस का शिकार हुआ है। वह प्रयागराज जिले में क्वारैंटाइन है। यहां शाहगंज स्थित अब्दुल्ला मस्जिद से एक हफ्ते पहले 36 लोगों को पकड़ा गया था। इनके कोरोनावायरस संक्रमित होने की आशंका पर 11 लोगों का सैंपल लखनऊ भेजा गया था। इनमें चार इंडोनिशिया व तीन केरल के रहने वाले थे। रिपोर्ट आने के बाद प्रशासन सतर्क हो गया है।

झांसी: पुलिसकर्मियों पर हुई फूलों की बारिश

देश में 21 दिन का लॉकडाउन लागू है। पुलिसकर्मी रात दिन ड्यूटी कर के इसका पालन करा रहे हैं। देशहित में समर्पित ऐसे पुलिसकर्मियों का झांसी में जमकर सम्मान हो रहा है। कोई इनकी आरती उतार रहा है तो कोई फूलों की बरसात कर रहा है।शहर के कई स्थानों पर उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारियों ने पुलिस कर्मचारियों का महानगर में कई स्थानों पर हार पहनाकर और फूल बरसाकर सम्मान किया। सम्मान करने वाले व्यापारियों का कहना है कि लॉकडाउन को सफल बनाने में पुलिस की बड़ी भूमिका है। जगह-जगह नाकाबंदी कर पुलिस लोगों को रोकने में जुटी हुई है। पुलिस कर्मचारी 24 घंटे अपने काम को अंजाम देने में मुस्तैदी से नजर आते हैं।

झांसी में व्यापारियों ने पुलिसकर्मियों पर फूल बरसाकर उनका मान बढ़ाया।

नोएडा: 24 घंटे में नहीं एक भी पॉजिटिव रिपोर्ट
बीते 24 घंटे नोएडा के लिए राहत भरे रहे। यहां कोरोना पॉजिटिव पीड़ितों की संख्या पर लगाम लगती नजर आई। रविवार को शहर में एक भी केस पॉजिटिव नहीं पाया गया। जिससे डॉक्टरों ने भी राहत की सांस ली है। रविवार को 215 सैंपल की जांच हुई थी। यहां अब तक कोरोना से 58 संक्रमित मिल चुके हैं। 8 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं।

कानपुर: छह मोहल्लों को रेडजोन में तब्दील किया गया
कानपुर नगर में कोरोना के 7 केस सामने आ चुके हैं। यहां अनवरगंज, बेकनगंज, चमनगंज, बाबूपुरवा, कर्नलगंज व घाटमपुर को रेडजोन घोषित किया गया है। इन सभी इलाकों को सील कर दिया गया है। डीआईजी अनंतदेव ने कहा- यहां घरों से निकलने वालों पर लॉकडाउन के उलंघन के आरोप में एफआईआर दर्ज होगी।

कानपुर में चार मोहल्लों को रोड जोन घोषित किया गया है। यहां तब्लीगी जमाती मस्जिदों में घूमे थे।

गोरखपुर: पहला संक्रमित मिला, बस्ती में आइसोलेट
यहां कोरोना संक्रमण का पहला मरीज सामने आने के बाद लोग खौफजदा हैं। हालांकि, जिस शख्स में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वह बस्ती जिले में आइसोलेट है। वह बीते दिनों संक्रमण से मरे बस्ती के युवक का बहनोई है। वह तिवारीपुर क्षेत्र के मोहनलालपुर भट्ठा का रहने वाला है। उसके घार के दूसरे सदस्यों को क्वारैंटाइन किया गया है। युवक के परिवार में दो भाई, माता-पिता व बहन के अलावा बच्चे भी हैं।

गोरखपुर में लोगों ने लॉकडाउन का पालन करने के लिए रोड पर लिखा- कोरोना माने मौत।

रविवार को राज्य में मिले थे45 कोरोना पॉजिटिव
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि, रविवार 45 व सोमवार को 16 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। रविवार को 438 संदिग्ध मरीजों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया। अब तक वाराणसी, बस्ती व मेरठ में तीन रोगियों की मौत हो चुकी है। यूपी में अभी तक कुल 5255 संदिग्ध मरीजों के नमूने जांच के लिए लैब भेजे जा चुके हैं और इसमें से 4796 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 179 की रिपोर्ट आना अभी बाकी है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


एकता की तस्वीर- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर रविवार रात 9 बजे लखनऊ के ईदगाह में मौलाना खालिद रशीद फिरंगी ने मौलानाओं के साथ मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाकर कोरोना के अंधकार को दूर करने के प्रति एकजुटता दिखाई। राज्य के अलग अलग शहरों में भी कुछ ऐसी ही सौहार्द भरी तस्वीरें सामने आईं।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *