सूंघने की क्षमता कम होना और स्वाद पता नहीं चलना संक्रमण के सिम्प्टम्स में शामिल; अब 7 की बजाय 9 सिम्प्टम्स के आधार पर टेस्टिंग होगी



सूंघनेकी क्षमता कम होनाऔर स्वाद का पता नहीं चलना अब कोरोना के सिम्प्टम्स में शामिल रहेगा। सरकार ने शनिवार को कोरोना सिम्प्टम्स की लिस्ट में इन दो लक्षणों को भी शामिल कर लिया।

इस लिस्ट में पहले 7 सिम्प्टम्स थे। अब 9 हो गए हैं। पहले बुखार, कफ, थकान, सांस लेने में दिक्कत, बलगम के साथ खांसी, मांसपेशियों में दर्द, नाक से पानी बहना और गला खराब होना या दस्त जैसे सिम्प्टम्स शामिल थे।

टास्क फोर्स ने इसकी सिफारिश की थी
कोरोना पर बनी टास्क फोर्स की पिछले रविवार को हुई बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई थी। टास्क फोर्स के कुछ मेंबर्स ने सुझाव दिया था कि कोरोना की टेस्टिंग में सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता कम होने के सिम्प्टम्स भी शामिल किए जाएं, क्योंकि कई मरीजों में ऐसा देखा गया है।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि नॉर्मल जुकाम में भी सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता कम हो सकती है, लेकिन ये कोरोना के भी संकेत हो सकते हैं। इनके आधार पर टेस्टिंग की जाए तो बीमारी का जल्द पता लगाकर इलाज शुरू करने में मदद मिल सकती है। अमेरिका के नेशनल पब्लिक हेल्थ इंस्टीट्यूट सीडीसी ने मई की शुरुआत में ही इन्हें कोरोना सिम्प्टम्स की लिस्ट में शामिल कर लिया था।

भारत में कोरोना के मरीजों में सिम्प्टम्स का ट्रेंड

सिम्प्टम कितने मरीजों में
बुखार 27%
कफ 21%
गला खराब 10%
सांस में दिक्कत 8%
कमजोरी 7%
नाक से पानी आना 3%
अन्य 24%

(आंकड़े 11 जून को इंटीग्रेटेड हेल्थ इन्फॉर्मेशन प्लेटफॉर्म की रिपोर्ट केमुताबिक)

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


COVID-19 News: Coronavirus Symptoms Loss Of Taste Or Smell Updates From Government

About The Author

Originally published on www.bhaskar.com

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *