दुनिया में 50 हजार से ज्यादा संक्रमितों की हालत गंभीर, अमेरिका के बाद भारत में ऐसे मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा



देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एक और बुरी खबर है। अमेरिका के बाद भारत दूसरा ऐसा देश हो गया है, जहां सबसे ज्यादा संख्या में कोरोना के गंभीर मरीज हैं। मतलब ऐसे मरीज जो वेंटिलेटर या फिर ऑक्सीजन सपोर्ट के सहारे हैं।

अमेरिका में ऐसे मरीजों की संख्या 16 हजार 827 है, जबकि भारत में 8 हजार 944 मरीजों की हालत गंभीर है। ये आंकड़े worldometers.info के मुताबिक हैं। शुक्रवार सुबह तक इस मामले में ब्राजील दूसरे नंबर पर था, जहां अब 8 हजार 318 मरीजों की हालत गंभीर है। 10 दिन पहले यानी 3 जून को इस मामले में भारत 7वें नंबर पर था।

रूस का सबसे बेहतर रिकवरी रेट
तीन लाख से ज्यादा संक्रमितों वाले देशोंमें रूस का रिकवरी रेट सबसे अच्छा है। संक्रमितों की संख्या के आधार पर यहां ठीक होने वालों की संख्या ज्यादा है। यहां का रिकवरी रेट 51.97% है। भारत इस मामले में दूसरे नंबर पर है। यहां का रिकवरी रेट 49.34% है।

इंग्लैंड ने ठीक हुए मरीजों की संख्या जारी करना ही बंद कर दिया
इंग्लैंड में शुरुआत से ही कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या काफी कम रही है। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2 मई तक इंग्लैंड में 32.9% कोरोना मरीजों की मौत हुई थी। आईसीयू में 20.7% मरीज थे। आईसीयू से डिस्चार्ज होकर जनरल वार्ड में शिफ्ट होने वाले मरीजों की संख्या 44.1% थी और पूरी तरह से सही होकर डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या 2.3% थी। इसके बाद से इंग्लैंड ने कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या जारी करना बंद कर दिया।

ब्राजील में हर दिन सबसे ज्यादा मौतें हो रहीं
दुनिया में अब हर रोज सबसे ज्यादा मौतें ब्राजील में हो रही हैं। यहां एक दिन पहले ही 1261 लोगों की मौत हुई थी। दूसरे नंबर पर अमेरिका है। यहां रोज 1000 लोगों की जान जा रही है। भारत इस मामले में चौथे नंबर पर है। जहां अब हर रोज 350 से ज्यादा लोग दम तोड़ रहे हैं। पाकिस्तान भी सबसे ज्यादा मौतों वाले 10 देशों की सूची में शामिल हो गया है। यहां अब हर रोज 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Russia India Coronavirus Update | Coronavirus Patients Health Condition Today Latest News Updates; USA Brazil Russia India

About The Author

Originally published on www.bhaskar.com

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *