शुरुआती 125 दिन में संक्रमितों की संख्या दो लाख हुई थी; जून के महज 24 दिनों में तीन लाख नए केस बढ़े, 4 से 5 लाख मामले होने में केवल 6 दिन लगे



देश में कोरोनावायरस मरीजों का आंकड़ा शुक्रवार को 5 लाख के पार हो गया। सिर्फ 6 दिन में ही कोरोना मरीज 4 लाख से बढ़कर 5 लाख हो गए। 20 जून को संक्रमितों की संख्या 4 लाख के पार हुई थी।देश में 30 जनवरी को कोरोना का पहला मामला सामने आया था। इसके 110 दिन बाद यानी 10 मई को यह संख्या बढ़कर एक लाख हुई।

फिर संक्रमण की रफ्तार में इतनी तेजी हो गई किमहज 15 दिनों में ही आंकड़ा 2 लाख के पार हो गया। इसके बादसंक्रमितों की संख्या 2 से बढ़कर 3 लाख होने में महज 10लगे।3 से 4 लाख मामले होने में 8 दिन और अब 4 से 5 लाख मामले होने में केवल 6 दिन लगे।

मतलब अब हर 6 दिन में एक लाख नए केस सामने आ रहे हैं। अगर यही रफ्तार रही तो अगले हफ्ते तक भारत, रूस को पीछे छोड़ते हुएदुनिया का तीसरा सबसे ज्यादा संक्रमित देश हो जाएगा।

149 दिनों में 5 लाख केस सामने आए

राहत की बात यह है कि अन्य देशों के मुकाबले में भारत में कोरोना की रफ्तार काफी धीमी है। अमेरिका में सबसे तेज 82 दिनों में 5 लाख से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। भारत में इतने मामले होने में 149 दिन लगे। यह तब है जब भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है।

अमेरिका में सबसे कम 82 दिन में 5 लाख केस आए

देश तारीख कितने दिन में 5 लाख संक्रमित
अमेरिका 10 अप्रैल 82 दिन
ब्राजील 31 मई 96 दिन
रूस 11 जून 133 दिन
भारत 26 जून 149 दिन

अब हर 3 दिन में 50 हजार मरीज मिल रहे

देश में 6 मई को कोरोना मरीजों का आंकड़ा 50 हजार था। मतलब देश में संक्रमण की शुरुआत से लेकर 50 हजार मामले होने में 98 दिन लगे। इसके बाद रफ्तार तेज हो गई। अगले 50 हजार मामले महज 12 दिन में सामने आए।

एक से 1.5 लाख मामले होने में 8 दिन और 1.5 से 2 लाख मरीज अगले 7 दिन मिले। अब हर पांच दिनों में 50 हजार मामले आ रहे हैं। 2 लाख से 2.5 लाख केस होने में 5 दिन और 2.5 से 3 लाख केस होने में महज 5 दिन लगे।

3 से 3.5 लाख मामले होने में 4 दिन और फिर 3.5 से 4 लाख मामले होने में भी 4 दिन ही लगे। अब हर तीन दिन में 50 हजार नए केस मिल रहे हैं। मसलन 4 से 4.5 लाख होने में 3 दिन और फिर 4.5 से 5 लाख केस होने में 3 दिन लगे।

देश में 58% मरीज ठीक हुए, रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा
राहत की बात है कि दूसरे देशों के मुकाबले भारत का रिकवरी रेट काफी बेहतर है। यहां अब तक 5 लाख मरीजों में से 2.97 लाख ठीक भी हो चुके हैं। रिकवरी रेट 58.13% है। मतलब हर 100 में से 58 मरीज ठीक हो रहे हैं।

5 लाख से ज्यादा संक्रमितों वाले देश में सबसे बेहतर रिकवरी रेट रूस का है। यहां 61.88% मरीज ठीक हो चुके हैं। सबसे कम रिकवरी रेट अमेरिका का है। यहां अभी तक 42.01% मरीज ही ठीक हुए हैं।

देश में सबसे ज्यादा संक्रमण और मौतें महाराष्ट्र में हुईं

देश में कोरोना का सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र में देखने को मिला। 5 लाख संक्रमितों में 30.01 % मरीज केवल महाराष्ट्र से हैं। देश की राजधानी दिल्ली दूसरा सबसे ज्यादा संक्रमित प्रदेश है। देश के कुल संक्रमितों में 14.99% मरीज दिल्ली से हैं। जबकि तमिलनाडु के 14.42% संक्रमित हैं।

सबसे कम कोरोना पॉजिटिव मरीज मेघालय में हैं। यहां अब तक 47 लोग ही संक्रमित पाए गए हैं। दूसरे नंबर पर अंडमान निकोबार है। यहां 72 मरीजों की पहचान हुई है।देश में अब तक 15,700 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें 45.24% लोग महाराष्ट्र से थे। मरने वालों में दिल्ली के 15.85% और गुजरात के 11.44% लोग थे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Coronavirus Cases in India Cross 5 Lakh Updates |Corona virus cases in India Latest COVID 19 News and Death Counts

About The Author

Originally published on www.bhaskar.com

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by Dragonballsuper Youtube Download animeshow