Breaking News

71वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल क़िले से प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर से लेकर नोटबंदी और कश्मीर तक का किया ज़िक्र

prime minister narendta modi at lal qila
prime minister narendta modi at lal qila

नई दिल्ली(15 अगस्त 2017)- मंगलवार को देश अपनी आज़ादी की 71वीं सालग्रह मना रहा है। इस मौक़े पर पीएम नरेंद्र मोदी ने चौथी बार लाल किले की फसील से तिरंगा फहराया और मुल्क से ख़़िताब किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से गोरखपुर के हादसे से लेकर कश्मीर समस्या और नोटबंदी से लेकर आतंक और सर्जिकल स्ट्राइक तक का ज़िक्र किया।
लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री मोदी ने गोरखपुर के बीआरडी हॉस्पिटल में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि पिछले दिनों प्राकृतिक आपदा को देश ने देखा, अस्पताल में बच्चों की मौत हुई, यह बेहद दुखी है। इस संकट की कड़ी में सभी देशवासियों एक साथ हैं। उन्होने कहा कि काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। लाल क़िले से मोदी ने कहा कि काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी। सरकार की योजनाओं की रफ्तार बढ़ी है। उन्होने रहा कि सरकार की किसी योजना में देरी होती है तो सबसे अधिक नुकसान हमारे गरीब परिवारों को होता है। उन्होने बताया कि मैं सरकार के कामकाज का लेखा-जोखा हर महीने लेता हूं। अप्रत्यक्ष रूप से पिछली सरकारों पर इशारा करते हुए उन्होने कहा कि 9 महीने में मंगलयान पहुंच सकते हैं, लेकिन 42 साल से रेल का एक प्रॉजेक्ट लटका पड़ा था, एक ऐसा माहौल था कि केंद्र बड़ा भाई है और राज्य छोटा। लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहा हूं और मैं जानता हूं कि राज्यों के विकास में मुख्यमंत्री का कितना योगदान रहता है। उन्होने कहा कि आज हम राज्यों को ताकत देकर बिजली के कारखानों के कारोबार में जो समस्याएं थीं उसका मिलकर समाधान किया।
लाल किले की प्राचीर से बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आतंकियों के साथ कोई नर्मी नहीं बरती जाएगी। जम्‍मू-कश्‍मीर पर पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत की साख विश्व में बढ़ रही है। जम्मू-कश्मीर का विकास, सामान्य नागरिक के सपनों को पूरा करना जम्मू-कश्मीर की सरकार के साथ इस देशवासियों का संकल्प है। कश्मीर के अंदर जो कुछ होता है, आक्षेप भी बहुत होते हैं। मैं साफ मानता हूं कि कश्मीर में जो कुछ हो रहा है मेरे दिमाग में साफ है कि न गाली से समस्या सुलझेगी न गोली से परिवर्तन होगा कश्मीरियों को गले लगाकर। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में आज हम अकेले नहीं हैं। दुनिया के कई देश सक्रिय रूप से मदद कर रहे हैं। विश्व के देशों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ रहे हैं। आतंकवादियों को बार-बार हमने कहा है कि आप मुख्यधारा में आइए। उन्होने कहा कि आतंकियों के साथ कोई नर्मी नहीं बरती जाएगी।
सर्जिकल स्ट्राइक पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश की रक्षा-सुरक्षा आम जनता के दिल में बहुत बड़ी बात है। बलिदान की पराकाष्ठा करने में हमारे वीर कभी पीछे नहीं रहे। यूनिफॉर्म में रहने वाले लोगों ने त्याग किया है। सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो दुनिया को हमारा लोहा मानना पड़ा। उन्होने कहा कि भारत अपने आप में सामर्थ्यवान है और देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों को हम पस्त कर सकते हैं।’
लाल किले से संबोधन में पीएम मोदी ने नोटबंदी पर कहा कि सरकार बनने के बाद हमने पहला काम किया था एसआइटी बनाने का। हमने काला धन सरेंडर कराया है। जो काला धन छिपा था उसको हम मुख्यधारा में लाने में सफल रहे। नोटबंदी के बाद 3 लाख करोड़ रुपया बैंकिंग सिस्टम में आया। 1.75 लाख करोड़ की राशि शक के घेर में हैं। अब व्यवस्था के साथ उन्हें अपना जवाब देना है। नए करदाताओं की संख्या इस साल दोगुनी से भी ज्यादा हुई है। 18 लाख से ज्यादा ऐसे लोगों को पहचाना गया है जिनकी आय उनके हिसाब-किताब से ज्यादा है। एक लाख लोग ऐसे सामने आए हैं जिन्होंने कभी इनकम टैक्स का नाम भी नहीं सुना था, लेकिन आज उन्हें इनकम टैक्स जमा करना पड़ रहा है। नोटबंदी के बाद जब डेटा माइनिंग की गई तो 3 लाख ऐसी कंपनियां पाईं गईं जो सिर्फ हवाला का कारोबार करती थीं। उनमें से लगभग 2 लाख कंपनियों पर ताले लटक गए। कुछ तो ऐसी शेल कंपनियां थीं जिनके एक ही पते पर कई-कई कंपनियां चलती थीं। उन्होने कहा कि हमने उन पर कार्रवाई की और जीएसटी के कारण हजारों करोड़ की बचत हुई है समय की भी बचत हुई है। चेकपोस्ट खत्म हुए। नोटबंदी के बाद बैंकों के पास धन आया है।
लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने डिजिटल लेन-देन पर ज़ोर दिया। उन्होने कहा कि दुनियां का सबसे बड़ा युवा वर्ग हमारे देश में हैं।उन्होने सवाल किया कि क्या अब भी हम उसी पुरानी सोच में रहेंगे? आज जो कागज के नोट हैं वो समय के साथ डिजिटल में बदलने वाला है। पिछले साल की तुलना में डिजिटल लेन-देन में 34 फीसदी का बढ़ावा हुआ है। हिंदुस्तान की कुछ योजनाएं ऐसी हैं जिससे लोगों का पैसा बचने वाला है। सस्ती दवाई गरीब के लिए बहुत बड़ी राहत है। हम गरीब और मध्यमवर्ग के लिए एक से बढ़कर एक योजनाएं शुरू कर रहे हैं। हमने जिला स्तर तक डायलिसिस को पहुंचाया है। हम तेजस हवाई जहाज के द्वारा दुनिया के अंदर अपनी धमक पहुंचा रहे हैं। शास्त्रों के हवाले से उन्होने चेताया कि सही समय पर कोई कार्य पूरा न किया गया तो इच्छित परिणाम कभी नहीं मिलते।
वन रैंक वन पेंशन और जीएसटी पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब गरीबों के मन में यह विश्वास पैदा हो रहा है कि यह देश ईमानदारों के लिए है। सेना के लिए सालों से लटके वन रैंक वन पेंशन को हमने लागू किया। जीएसटी जिस तरह से सफल हुआ उसके पीछे करोड़ों लोगों का हाथ है। विकास की बात करते हुए उन्होने कहा कि आज दोगुनी रफ्तार से सड़कें बन रही हैं, दोगुनी रफ्तार से रेल की पटरी बिछाई जा रही हैं, 14 हजार से ज्यादा गांवों को पहली बार बिजली मिली है। 29 करोड़ गरीबों के बैंक अकाउंट खुले हैं। युवाओं को रोजगार के लिए बैंक से लोन की स्वीकृति मिलती है। 2 करोड़ गरीब माताओं को लकड़ी के चूल्हे से मुक्ति मिलती है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें 2022 में आजादी के दीवानों के सपनों के अनुरूप भारत बनाने के लिए सवा सौ करोड़ देशवासियों के संकल्प और पुरुषार्थ से इस सपने को पूरा करना है। सामूहिकता की शक्ति बहुत बड़ी होती है। प्रभु श्रीकृष्ण एक लकड़ी लेकर खड़े हो गए और गोवर्धन पर्वत को उठा लिया। श्रीराम को लंका जाना था वानर सेना उनके साथ खड़ी हो गई। हर कोई अपनी जगह से 2022 के लिए एक नई ऊर्जा, नए संकल्प के साथ परिवर्तन ला सकते हैं। न्यू इंडिया जो सुरक्षित हो, समृद्धशाली हो। सबको समान अवसर उपलब्ध हों। हम तेजस हवाई जहाज के द्वारा दुनिया में नाम कमा रहे हैं। भीम ऐप का इस्तेमाल बढ़ा है। उन्होंने कहा कि हम न्यू इंडिया का संकल्प लेकर आगे बढ़ें। टीम इंडिया के लिए हमें संकल्प लेना होगा। 2022 तक न्यू इंडिया का संकल्प लें। गरीब के पास पक्का घर, बिजली पानी हो. देश का किसान चिंता में नहीं चैन से सोए।
साथ ही पीएम ने तीन तलाक का भी ज़िक्र करते हुए कहा कि पीड़ित महिलाओं ने जोरदार आंदोलन किया। उन्होंने कहा कि देश में माहौल बनाया। उन्होंने कहा इन महिलाओं की इस लड़ाई में हिंदुस्तान उनकी मदद करेगा। इसके अलावा उन्होने कहा कि हमने नौकरी में इंटरव्यू को खत्म किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि तीसरी और चौथी श्रेणी नौकरी में इंटरव्यू खत्म किया गया है।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by Dragonballsuper Youtube Download animeshow