शादी में मातम-साथ खाना खाने के बाद दो युवकों को उतारा मौत के घाट

2 murdered in marrige function, double murder marrige turned in sadness in vaishali ghaziabad

गाजियाबाद (01 दिसंबर 2019)- पुलिस और प्रशासन से अगर हथियार के लिए लाइंसेस को अपलाई करें, तो यक़ीनन जूते घिस जाएंगे। लेकिन पिछले कुछ दिनों के दौरान होने वाली वारदातों से लगता है कि अगर आपका रसूख़ है या फिर ऊपर से नीचे तक खिलाने की ताक़त तो सिर्फ किसी दूसरे की ज़िंदगी लेने वाले हथियारों का लाइसेंस हासिल किया जा सकता है।
इसका एक सबूत देखने को मिला वैशानी में हो रहे एक शादी समारोह में। जहां समारोह के दौरान दो युवकों की हत्या के बाद मातम पसर गया। पुलिस ने मौक़े से एक लाइसेंसी पिस्टल बरामद करने का दावा किया है।
ग़ाज़ियाबाद के इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के वैशाली में रविवार की रात में शादी समारोह के दौरान साथ बैठकर खा पी रहे तीन युवकों के बीच कहा सुनी इतनी बढ़ी कि दो युवकों को मौत के घाट उतार दिया गया। इस वारदात के बाद शादी समारोह अचानक मौत की ख़ामोशी में तब्दील हो गया।
लेकिन इस वारदात की एक बात बेहद ख़ास है। अपनी ज़िंदगी सुरक्षित रखने के नाम पर प्रशासन से हासिल किया गया एक लाइंसेसी पिस्टल मौक़ा ए वारदात से बरामद किया गया है। पुलिस का कहना है कि फिलहाल पिस्टल किस का है ये पता लगाया जा रहा है।
घटना देर रात की बताई जा रही है । दोनों युवक मेहंदी की रस्म के कार्यक्रम में शामिल होने आये थे । पुलिस ने मौके से लाइसेंसी पिस्टल बरामद की है । एसएसपी व अन्य पुलिस अधिकारी मौक़े पर पहुंच गए है। शुरुआती जांच के बाद गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि वैशाली में एम्ब्रीशिया नामक फार्म हाउस में शनिवार की रात में मेहंदी की रस्म चल रही थी। इस दौरान तीन युवक एक टेबल पर बैठ कर एंजॉय कर रहे थे। लेकिन तकरीबन 12:00 बजे तीनों फार्म हाउस के बाहर आ गए, और आपस में बातचीत करने लगे। लेकिन इस दौरान तीनों में कहा सुनी तेज़ हो गई और एक युवक दोनों युवकों को गोली मारकर फरार हो गया। दोनों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। मामले की ख़बर सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच-पड़ताल की।
पुलिस के मुताबिक मरने वाले विक्रम व आनंद के तौर पर पहचाने गये हैं । गोली मारने वाला शख्स अभी पहचाना नहीं जा सका है। पुलिस सीसीटीवी की फुटेज के आधार क़ातिल की तलाश कर रही है। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
लेकिन इस वारदात ने एक बार फिर लाइसेंसनिंग प्रक्रिया, मैरिज हॉल्स, शादी समारोह स्थलों की सुरक्षा, शादी के दौरान आसपास का ट्रैफिक सिस्टम और ख़ासतौर से इस तरह के समारोह में शराब और अपराधिक तत्वों की पहुंच को लेकर सवाल खड़े हो गये हैं।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *