अपनी बेबाक राय और विचार पूरी दुनियां से शेयर करें!

jan manch
देश के राजनीतिक और सामाजिक हालात के बारे में जनता की राय जानने के लिए http://www.oppositionnews.com ने “जन-मंच” कॉलम में बहस शुरु की है। क्या मौजूदा राजनीतिक व सामाजिक हालात से आप संतुष्ट हैं? या आपको इनमें कोई ख़ामी नज़र आती है? और इसके सुधार के लिए सरकार या प्रशासन को कोई सुझाव/शिकायत करना चाहते हैं, या कोई राय देना चाहते हैं? तो अपने विचारों से “जन-मंच” कॉलम में हमें अवगत कराएं। अपने विचार और अपना फोटो हमें oppositionnews@gmail.com पर मेल करें।
हमारी कोशिश है कि हर बार कोई नया मुद्दा लेकर आपके बीच आएं। यदि आपके मन भी कोई मुद्दा ऐसा हो जिसको लेकर देशवासियों की राय और उनके विचार सामने लाए जा सकते हैं, तो आप हमको मेल कीजिए।
पाठकों से संयिमित भाषा और सभी की भावनाओं का सम्मान प्रार्थनीय है।
satish sharam greater noida jan manch
देश की वर्तमान स्थिति पर ग़ौर करने की ज़रूरत:सतीश शर्मा
ग्रेटर नोएडा(21अगस्त2015)- हमने देश की वर्तमान राजनीतिक और सामाजिक स्थिति पर आपकी राय जानने का अनुरोध किया था। इस पर ग्रेटर नोएडा के इंजीनियर श्री सतीश शर्मा का कहना है कि आजादी मिलने के 68 वर्ष बाद भी देश के हालात ऐसे हैं कि उन पर गंभीरता से ग़ौर करना बेहद ज़रूरी है। सतीश शर्मा को इस बात का बेहद अफसोस है कि आज़ादी के बाद से अब तक देश में लाखों करोड़ के घोटाले हो चुके है। इससे भी ज्यादा अफसोस की बात यह है कि घोटालों का न रुकने वाला सिलसिला लगातार जारी है। देश के वर्तमान हालात का सबसे गंभीर पहलु यह भी है कि देश में अभी कोई ठोस व्यवस्था ऐसी नहीं बन सकी है। जो कि सांप्रदायिक दंगो, बेरोजगारी, गरीबी, लाचार कानून व्यवस्था, स्वास्थ्य सुविधाओं जैसी कमियों को दूर कर सके। साथ ही मौजूदा राजनीतिक सिस्टम में तुष्टीकरण जैसे गंभीर समस्या भी लगातार गंभीर होती जा रही है। इन तमाम बातों को देखकर लगता है कि मौजूदा समय में लोकतंत्र अपने उद्देश्यों को पूरा करने में असफल है। सतीश शर्मा के मुताबिक इस असफलता का कारण राजनीति में भ्रष्टाचार, अयोग्य शासक और जनता के धन की लूट है। उनका कहना है कि ऐसे हालात में हम आने वाली पीढी की भलाई के लिए भी कुछ भी सोचने के लिए लाचार होते जा रहे हैं। ज़रूरत इस बात की है कि हर देशवासी अपनी ज़िम्मेदारी को समझे और देश व समाजहित में अपना योगदान दे।
(एससी शर्मा इलैक्ट्रिकल इंजीनियर हैं जिन्होने 1972 में रुड़की यूनिवर्सिटी से आईआईटी की डिग्री हासिल की और उ.प्र. पॉवर कार्पोरेशन में डिप्टी जीएम पद से रिटायर होने के बाद इन दिनों में ग्रेटर नोएडा में रह रहे हैं।)

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *