Breaking News

दर्द व एलर्जी का बेजोड़ इलाज़ है वैट कपिंग थेरेपी.

tiff infomation(फरमान अली)
गाजियाबाद(10नवम्बर 2015)- फिज़िकल वर्क कम होने तथा आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में इंसान अनेक बीमारियो का शिकार हो रहा है। जिन बीमारियो का शिकार हो रहा है उनमे सर्वाइकल.कमर दर्द,घुटनो का दर्द,ऐड़ी का दर्द व् एलर्जी प्रमुख है। बीमारियो से निजात पाने के लिए वह बड़े से बड़े डॉक्टर के पास जाकर इलाज़ करता है लेकिन फिर भी उसे राहत नही मिलती। बीमारियो से परेशान वह डॉक्टरों के चक्कर लगाता रहता है। अगर आप भी इन बीमारियो से परेशान है तो आपको राहत देने वाली चिकित्सा पद्दति है वैट कपिंग थेरेपी।इस थेरेपी से इलाज़ करवाकर आप इन बीमारियो से निजात पा सकते है। क्या है वैट कप थेरेपी ?
वैट कपिंग थेरेपी यूनानी चिकित्सा पद्दति है। हालाँकि इस पद्दति में ड्राई व फायर कपिंग थेरेपी से भी विभिन बीमारियो का इलाज़ किया जाता है,लेकिन वैट कपिंग थेरेपी इन रोगों के इलाज़ में 99%सफल हो रही है। ग़ाज़ियाबाद के मुरादनगर में हकीम मोहम्मद शाने आलम इस थेरेपी से मरीजो का सफल इलाज़ कर रहे है। शाने आलम बताते है क़ि इसमे मरीज़ के शरीर के कुछ प्वाइंट पर कप लगाकर शरीर से मर्ज़ का कारण बने टोक्सिन.मिनरल्स व खराब खराब खून बाहर निकाल दिया जाता है। इसके बाद मरीज ठीक हो जाता है। उनका कहना है क़ि 99%मरीज इससे ठीक हो जाते है। उनका कहना है क़ि इससे मरीज की रोग प्रतिरोधक छमता भी बढ़ जाती है। साथ ही ब्लड सर्क्युलेशन भी बेहतर हो जाता है। इसका कोई साईड इफेक्ट भी नही है।
महँगा नही है इलाज़
इस थेरैपी से इलाज़ कराना महँगा नही है। मरीज को 3 से 7 बार कपिंग थेरेपी करनी पड़ती है। कई बार तो 2 -3 बार में इलाज करने पर ही मरीज ठीक हो जाता है। एक बार की सीटिंग का खर्च 14सौ से 18सौ रूपये आता है।

About The Author

आज़ाद ख़ालिद टीवी जर्नलिस्ट हैं, सहारा समय, इंडिया टीवी, वॉयस ऑफ इंडिया, इंडिया न्यूज़ सहित कई नेश्नल न्यूज़ चैनलों में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। Read more

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by Dragonballsuper Youtube Download animeshow